https://srninfosoft.com/
उत्तर प्रदेशग़ाज़ीपुर

प्रशासन की बात ना मानने पर चरया निवासी राजेश सिंह को खानी पड़ी जेल की हवा

https://srninfosoft.com/

संदीप प्रताप सिंह

गाजीपुर।कासिमाबाद तहसील क्षेत्र के चरया गांव के राजेश कुमार सिंह को पुलिस ने शांति भंग की आशंका में पाबंद कर रविवार को ही कोतवाली प्रभारी बलवान सिंह द्वारा राजेश सिंह को फोन करके बहला फुसला कर मामले का निस्तारण करने के लिए बात कहकर बुलाया गया मगर राजेश सिंह को कोतवाली पहुंचने के बाद मामला समझ मे आया और उनको गिरफ्तार कर लिया गया ।राजेश कुमार सिंह ने भूमि विवाद से परेशान होकर आत्मदाह की धमकी दिये थे।राजेश सिहं ने जिलाधिकारी महोदय को पत्र देकर कासिमाबाद तहसीलदार कार्यालय के सामने आत्मदाह करने की धमकी दी थी।जिससे कासिमाबाद पुलिस प्रशासन व राजस्व विभाग में हड़कंप मच गया था।कासिमाबाद एसडीएम रमेश मौर्य व क्षेत्राधिकारी महमूद अली ने कोतवाली प्रभारी बलवान सिंह के माध्यम से राजेश सिहं रविवार के दिन 11 बजे क्षेत्राधिकारी कार्यालय बुलाकर मामले को सुलझाने का प्रयास किया लेकिन वह फिर भी नहीं माने तो कोतवाली पुलिस ने पूरी रात थाने में बैठाकर दबाब बनाया गया लेकिन मामला जस का तस रहा फिर सोमवार के दिन भी पुलिस प्रशासन ने कोतवाली में समझाने का प्रयास किया मामले का निस्तारण ना करा कर उल्टा प्रशासन ने दबाव बना कर मामले का निस्तारण करने का प्रयास किया गया योगी सरकार के वादों को उनके ही अधिकारियों द्वारा मामले की लीपापोती करने में कोई को कोर कसर नहीं छोड़ी वादी राजेश सिंह को करीबन 36 घंटा थाने बैठाकर आवश्यक दबाव बनाया गया सुलह समझौता करके प्रशासन की मंशा के अनुरूप अपना काम करने की बात कही गई मगर अपनी खोई जमीन को वापस पाने के लिए चरया निवासी राजेश सिंह द्वारा अपने बात पर अडिग रहें तहसील परिसर में बात किया गया तो वह बोले कि प्रशासन मुझे जेल भेज कर डरा धमका कर मेरे कहे गए बातों को पलट नहीं सकता मैं अपने वचनों पर अडिग हूं अगर यहां मामले का निस्तारण नहीं हो सकता तो मैं ऊपर तक जाकर मैं आवाज उठाऊंगा अगर मामला कोर्ट में लंबित है तो दोनों पक्षों को विवादित जमीन से प्रशासन को दूर ही रहने का हिदायत देनी चाहिए कोर्ट के फैसले आने तक दोनों पक्षों को कोई जुताई बुआई नहीं करने देने के लिए राय देनी चाहिए मगर प्रशासन द्वारा एक तरफा कार्रवाई करते हुए विपक्षी को जमीन कब्जे में दे दी गई राजेश सिंह द्वारा बार-बार यही कहा जा रहा है कि प्रशासन ने एक तरफा कार्रवाई करके जमीन को विपक्षी गण को काबिज करा दी गई है कोतवाली में प्रशासन के लाख दबाव बनाने के बाद भी

राजेश सिंह अपनी बात पर अटल रहे जिसके बाद कासिमाबाद कोतवाली पुलिस ने राजेश कुमार सिंह को शांति भंग की आशंका में पाबंद कर उप जिलाधिकारी के यहां पेश की जिसके बाद मजिस्ट्रेट ने मामला को खारिज कर पुलिस ने अपने गिरफ्त में लेकर देर शाम चालान कर जेल भेज दिया।मालूम हो कि कासिमाबाद तहसील क्षेत्र के चरया के गांव निवासी राजेश कुमार सिंह का गांव में अपने पट्टीदारों से जमीन का विवाद लंबे समय से चल रहा है।जबकि मामला न्यायालय में है।उन्होंने मामले जांच पड़ताल कराकर जमीन कब्जा दिलाने के लिए तहसीलदार के यहां भी प्रार्थना पत्र दिया था।कोई सुनवाई न होने का आरोप तहसीलदार डां विराग पांडेय पर लगाते हुए राजेश कुमार सिंह ने तहसीलदार कार्यालय के सामने आत्मदाह करने के लिए पत्रक जिलाधिकारी महोदय को दिया था।

https://srninfosoft.com/

खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करे

https://srninfosoft.com/

संदीप प्रताप सिंह

मोबाइल नंबर-: 9919660660, 9532222333

https://srninfosoft.com/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close